हम आपके लिए कुछ मजेदार जोक्स लेकर आये हैं जो आजकल सोशल मीडिया पर काफी ट्रेंडिंग हैं. हमें यकीन है कि इन जोक्स को पढ़कर आपकी हंसी रुकेगी नहीं. तो चलिए शुरू करते हैं हंसने-हंसाने का ये सिलसिला.

कब्रिस्तान के आगे दो व्यक्ति बात कर रहे थे.
कितने आराम से सो रहे हैं ये लोग.
उतने में एक मुर्दा खड़ा हो गया और बोला-
क्यो नहीं सोएंगे, जान दे के जगह ली है!

एक औरत ने दूसरी औरत से कहा- मेरे पति मुझे बहुत
प्यार करते हैं. कहते हैं तुम सात जन्मों तक मेरी पत्नी रहोगी.
दूसरी औरत बोली- ये मर्द ऐसे ही होते हैं,
सातवें जन्म से आगे के लिए किसी और को बोल रखा होगा

लड़का अपनी प्रेमिका से मिलने पार्क में जाता है,
लड़का मैं कल तुम्हारे घर गया था.
हमारी शादी होना बहुत ही मुश्किल है.
प्रेमिका- लेकिन क्यों डार्लिंग ऐसा क्या हुआ?

शादी के दूसरे दिन…
सास- ये क्या बहु हाथ खाली क्यों?
अच्छे नहीं लगते ऐसे
बहु- मोबाइल चार्जिंग पर लगाया है मांजी
सास- अरे करमजली चूड़ी नहीं है हाथ में

पत्नी- भगवान के हाथ जोड़ कर घर से निकला
करो सब काम अच्छे होते हैं
पति- मैं नहीं मानता…शादी वाले दिन भी हाथ
जोड़ कर ही घर से निकला था.

लड़का- जान से भी ज्यादा.
लड़की- मेरे लिए चांद-तारे तोड़ कर लाओगे?
लड़का- तो करवाचौथ तेरे बाप के टकले को
देखकर मनाएंगे?

मैडम- साली आधी घरवाली होती है,
इस मुहावरे का अर्थ बताओ?
पप्पू- वो स्कीम जो दूल्हे को बताई जाती है,
लेकिन दी नही जाती.
मैडम बेहोश!

 

पहला दोस्त – क्या कर रहे हो भाई?
दूसरा दोस्त – खा रहा हूं भाई…!
पहला दोस्त – अकेले-अकेले…?
दूसरा दोस्त – अबे बीवी से ताने खा रहा हूं,
आजा तू भी खा ले…!!!

शरीर कहता है कसरत कर ले,
और आत्मा को रबड़ी, जलेबी, समोसे,
कचौड़ी और छोले भटूरे और गोल गप्पे चाहिए ।
पर शरीर तो नश्वर है, और आत्मा अजर अमर…
तो आत्मा की ही सुननी चाहिये

शिक्षक – जहां न पहुंचे रवि , वहां पहुंचे कवि ,
उक्ति की पुष्टि के लिए उदाहरण दों ।
छात्र – कवि सम्मेलन का रात को होना ।

रवि- मेरे पिता एक हाथ से कारों को रोक लेते है |
श्याम – तब तो तुम्हारे पिता जी पहलवान होंगे |
रवि- जी नहीं , वह ट्रैफिक पुलिस में सिपाही हैं.

मोटू ( अपने मित्र छोटू से ) – तुम्हारी दादी हर
समय बैठी रामायण पढती रहती हैं ?
छोटू – हां , वह अपनी अन्तिम परीक्षा
की तैयारी कर रही हैं |

 

एक बच्चे ने दूसरे बच्चे से पूछा –
क्या तुम चीनी भाषा पढ सकते हो ?
दूसरे बच्चे ने कहा – हां , अगर वह
हिंदी तथा अंग्रेजी में लिखी हो तो….

पिता ( बेटे से ) – देखों बेटे , जुआ नहीं खेलते |
यह ऐसी आदत हैं कि यदि इसमें आज जीतोगे तो
कल हारोगे , परसों जीतोगे तो उससे अगले दिन हार जाओगे |
बेटा – बस , पिताजी ! मैं समझ गया , आगे से
मैं एक दिन छौड़कर खेला करूंगा |

छोटी – सी लड़की ने अपनी मां से पूछा –
मम्मी , तुमने कहा था ना कि परियों के पंख
होते हैं और वह उड़ सकती हैं ना ?
मम्मी – हां बेटी , कहा था |

लड़की – कल रात डैडी आया को कह रहे थे
कि वह तो परी हैं | वह कब उड़ेगी मम्मी ?
मम्मी ( छोटी सी लड़की से ) – सुबह होते ही उड़ जाएगी बेटी |